सोमवार, 20 सितंबर 2010

मंत्री का धौस दिखाया तो भाई की तबियत से पिटाई हुई...

प्रदेश के दमदार माने जाने वाले मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के भाई योगेश अग्रवाल और उसके साथी सुनील तिवारी को यहां कवर्धा में स्थानीय लोगों ने जमकर पिटाई की। लात-घूसों के अलावा डंडा व बेल्ट का भी उपयोग हुआ। बाल खींचकर दोनों को पटक-पटक कर बेदर्दी से मारा गया। घटना होटल मोहिनी पैलेस की है। मारपीट में शामिल होने के आरोप में गुड्डा खान और उसके साथियों के खिलाफ जुर्म दर्ज कर लिया गया है।
घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार फिल्म व्यवसाय से जुड़े योगेश अग्रवाल और सुनील तिवारी अपनी टीम के साथ कवर्धा आए हुए थे। बताया जाता है कि 13 सितम्बर की शाम उनकी गुड्डा खान व उनके साथियों के साथ विवाद हो गया। सूत्रों का दावा है कि चूंकि योगेश अग्रवाल के भाई बृजमोहन अग्रवाल प्रदेश सरकार के दमदार मंत्री माने जाते हैं इसलिए उनकी टीम के लोगों में जबरदस्त जोश होता है और इसी जोश के चलते यह घटना हुई।
सूत्रों के मुताबिक वाहन पार्किंग को लेकर हुए विवाद में किसी ने योगेश को भी बुलवा लिया और कहा जाता है कि बातचीत के दौरान किसी ने कह दिया कि अबे उलझना नहीं यह बृजमोहन अग्रवाल का भाई है और धक्का भी दे दिया धक्का खाते ही स्थानीय युवक आग बबूला हो उठे और देखते ही देखते होटल मोहिनी पैलेस दंगल में बदल गया।
बताया जाता है कि युवकों ने योगेश अग्रवाल और सुनील तिवारी की पिटाई शुरु कर दी और होटल में तोड़फोड़ मचा दी टीम के अन्य सदस्य सकते में आ गए बताया जाता है कि इस बीच योगेश और सुनील भागने की कोशिश करने लगे तो युवकों ने उनको बाल पकड़कर खींचा और जिसके हाथ में जो आया उससे पिटाई शुरु कर दी। इस बीच कुछ लोगों ने बीच बचाव किया लेकिन तब तक योगेश और सुनील की तबियत से पिटाई हो चुकी थी। चूंकि मंत्री का भाई पिटा गया था इसलिए पुलिस तत्काल मौके पर पहुंच गई और अपराध दर्ज कर कार्रवाई की।
सूत्रों की माने तो मंत्री भाई योगेश और उसकी टीम को तीसरी बार मार खाना पड़ा अन्यथा इस तरह का विवाद आए दिन होते रहता है। शूटिंग के दौरान बिलासपुर, भोरमदेव, खल्लारी व डोंगरगढ़ में भी योगेश के टीम के युवाओं का विवाद चर्चा में रहा है। सत्ता का धौंस वैसे तो नया नहीं है। विवादास्पद जमीन से लेकर चेम्बर में कब्जे को लेकर पूर्व अध्यक्ष के साथ भी दादागिरी की चर्चा आए चर्चा में रही है। इससे पहले स्टेशन चौक रायपुर में भी उसकी पिटाई हो चुकी है। बहरहाल योगेश अग्रवाल व सुनील तिवारी को पिटने वाले के खिलाफ कार्रवाई तो की जा रही है लेकिन आम लोगों में इसकी कई तरह की प्रतिक्रिया है और कहा जा रहा है कि मामला कभी भी गंभीर मोड़ ले सकता है।

3 टिप्‍पणियां:

  1. ज्यादा राजी होने की जरूरत नहीं है आपकी रिपोर्टिंग से तो लग रहा है कि गुड्डा खान ने बिना वजह मारपीट की है शायद....बहुत खुश लग रहे हो

    उत्तर देंहटाएं